Janie computer ka avishkar kisne kiya tha aur kaise? -hindifacts.in

आखिर कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था और कैसे

दोस्तों आज के इस आधुनिक युग में कंप्यूटर हमारे जीवन का एक important हिस्सा बन चुका है. और मनुष्य की प्रजाति को आगे बढ़ने में और नए नए संसोधनो में इसका एक बहुत बड़ा योगदान भी है. इसी वजह से हमने सोचा की यार आखिर इस कंप्यूटर का आविष्कार  किसने किया होगा ? और आखिर वो कौन महान इंसान थे जिन्होंने कंप्यूटर के अविष्कार में अपनी अहम भूमिका निभाई! तो चलिए जानते है!
    
       दोस्तों अगर में आपसे बात करू एक पुरे कंप्यूटर की तो ये बताना थोडा मुस्किल होगा की आखिर कंप्यूटर का अविष्कार किसने किया था! क्योंकि जैसे की आपको पता होगा की कंप्यूटर किसी एक भाग से नही बनता, इसमें मोनिटर, C.P.U.(यानि की  सेन्ट्रल प्रोसेसिंग यूनिट ) और साथ ही माउस-किबोर्ड का भी इस्तेमाल होता है.  इसी वजह से इन सभी चीजो को अलग अलग लोगो के द्वारा बनाए गए थे. लेकिन आप चिंता न करे में आज आपको कंप्यूटर के अविष्कार से जुड़े आपके सारे सवालों के जवाब दूंगा. और बताऊंगा की कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था. 
computer ka avishkar kisne kiya

⧫कंप्यूटर का अविष्कार 

दोस्तों जैसे की आपने स्कूल में पढ़ा होगा, कंप्यूटर के अविष्कार के लिए पूरा श्रेय गणित के प्रोफ़ेसर चार्ल्स बाबेज को माना जाता है. और इन्हें कंप्यूटर के पिता के नाम से भी जाना जाता है.
वैसे तो कंप्यूटर को बनाने की पहल तो कई सालो से चली आ रही है.और समय के बीतने के साथ साथ एक के बाद एक नई नई टेक्नोलॉजी का अविष्कार होता गया, जिसके वजह से ही आज हम इस आधुनीक दुनिया में जी रहे है.

➤Abacus

computer ka avishkar kisne kiya

आज के इस आधुनिक कंप्यूटरों का इतिहास शुरू होता है लगभग 3000 साल पहले. जब चीन में एक छोटी सी गिनती करने वाली मशीन का अविष्कार हुआ. जिसे Abacus के नाम से जाना जाता है. दोस्तों सायद आपने भी इसे बचपन में अपने स्कूल में देखा होगा जोकि एक सामान्य प्लास्टिक के फ्रेम के अन्दर कुछ vertical तारे लगी होती थी और जिसमे कुछ गोल गोल बिड्स भी लगी हुई होती थी. हालाँकि आज के ज़माने अब इसका इस्तेमाल नहीं किया जाता लेकिन कंप्यूटरों के आने से पहले किसी भी प्रकार की गिनती के लिए इन्हें ही use किया जाता था. 


➤Blase pascal

computer ka avishkar kisne kiya


दोस्तों इसके बाद 17 वि सदी में सन 1646 में फ़्रांस के एक गणित शास्त्री (ब्लेज़ पास्कल) ने अंको को जोड़ घटान करने वाली एक मशीन का अविष्कार किया. जिसे (adding machine) के नाम से भी जाना जाता है. इस मशीन में घड़ी के अन्दर मौजूद चक्रों की तरह ही कई चक्र लगे हुए होते थे. और प्रत्येक चक्र पर अंक(0-9) दर्शाए गए थे. और सभी चक्रों को अलग भागो में जैसे की इकाई दही और सैकड़ा में विभाजित किया गया था. लेकिन ये यंत्र खाली जोड़ और घटाने में उपयोग में आता था.

➤Joseph Jacquard

computer ka avishkar kisne kiya
computer ka avishkar kisne kiya

दोस्तों जोसेफ जक्वार्ड ने कपड़ो के ऊपर डिज़ाइन तैयार करने के लिए एक खास प्रकार के यन्त्र का अविष्कार किया था जिसमे एक cardboard पर के कुछ छिद्रों के हिसाब से सुई को अलग अलग दिशा में मोड़ा जाता था. और अलग अलग डिज़ाइन तैयार कर पाते थे.

➤Charles Babbage

computer ka avishkar kisne kiya
computer ka avishkar kisne kiya

दोस्तों 19 वि सदी को कंप्यूटरों के इतिहास का स्वर्ण समय माना जाता है, कंप्यूटर के आविष्कार में  इनका काफी अहम् योगदान हे. एक Mathematician CHARLES BABBAGE(चार्ल्स बाबेज) को एक मिकेनिकल Calculation करनेवाली मशीन के आविष्कार की जरूरत तब पड़ी जब इंसानों द्वारा बनाए गए सारणी में गलती आने लगी. ये सारणी हाथो द्वारा बनी हुई होने की वजह से इनमे error आने की सम्भावना ज्यादा थी.
        इसिचिज को ध्यान में रखते हुए चार्ल्स बाबेज ने सन1822  में एक mechanical मशीन की रचना की. इन मशीनो में बहुत सारे गियर्स लगे होते थे.  इस मशीन का नाम डिफरेंस इंजिन दिया गया. यह इंजिन पानी के भाप से चलता था. सन1833 में इस मशीन का upgraded version  लाया गया. जिका नाम analytical engine रखा गया. दोस्तों कंप्यूटर की दुनिया में चार्ल्स बाबेज का बहुत बड़ा हाथ हे. और उनके इन्ही अविष्कार से आधुनिक कंप्यूटर युग की सुरुआत हुई.

➤Dr. Howard Aiken's

since1940 में इलेक्ट्रोनिक Calculation एक बड़ी उचाई पर पहुच चूका था. इसी बिच आज के ज़माने में कंप्यूटर में EXPERT कहलाने वाली IBM कंपनी के 4 बड़े ENGINEERS और डो.हावर्ड ने मिलकर दुनिया का सबसे पहला इलेक्ट्रिक कंप्यूटर बना दिया. इसे सन1944 में बनाया गया, इसके बाद उसे 7 अगस्त 1944 को आज के ज़माने की विश्व विख्यात हावर्ड यूनिवर्सिटी को भेज दिया गया. इस कंप्यूटर का नाम automatic sequence controlled calculator (ascc) रखा गया.
दोस्तों यहाँ एक interesting बात ये हे की इस  कंप्यूटर में हम कोईभी गुना करनेें के लिए 1 second का टाइम लगता था,जबकि अगर हमें कोई भगा (Divide)करना हो तो हमें 12 second का टाइम लगता था. तो हम इस हिसाब से दुनिया के सबसे पहले कंप्यूटर की स्पीड का अंदाजा लगा सकते हे.

➤Atanasoff Berry Computer 

computer ka avishkar kisne kiya
computer ka avishkar kisne kiya

अंत में सन1945 में ATANASOFF और  CLIFFORD BERRY  ने मिल कर दुनिया का सबसे पहला आधुनिक इलेक्ट्रिक कंप्यूटर का आविष्कार किया. इस कंप्यूटर का नाम  उनके नाम पर से A.B.C. रखा गया.दोस्तों अब आधुनिकी कंप्यूटर का दौर सुरु हो चूका था.इसीलिए अब इसमें अलग अलग खोज होते गई और कंप्यूटर अधिक से अधिक आधुनिक होते गए. और आज आप देख ही सकते हे की कंप्यूटर की दुनिया कितनी ज्यादा आगे निकल चुकी हे की हम सोच भी नही सकते.
आज विज्ञान ने कंप्यूटर क्षेत्र में इतनी ज्यादा तरक्की कर ली हे आज हम कोई भी काम इंटरनेट और कंप्यूटर की मदद से चुटकी भर में कर सकते हे. कंप्यूटर का आविष्कार मानव जीवन में एक वरदान की तरह साबित हुआ हे.

तो दोस्तों केसा लगा आपको हमारा पोस्ट "आखिर कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था और कैसे?" और  आप क्या सोचते हो आज के आधुनिक कंप्यूटरों के बारे में आप हमें अपनी राय निचे COMMENT करके जरुर बताइए.click here to read more www.hindifacts.in

📘ये भी पढ़े!


Previous
Next Post »

1 comments:

Click here for comments
English Gyan
admin
September 6, 2020 at 5:32 AM ×

Nice post brother, I have been surfing online more than 3 hours today, yet I never found
any interesting article like yours. It is pretty worth
enough for me. In my view, if all web owners and bloggers made good content
as you did, the internet will be much more useful than ever before.
There is certainly a lot to know about this issue.

I love all of the points you’ve made. I am sure this post
has touched all the internet viewers, its really really good post on building up new weblog.
Gyan Hi Gyann

Congrats bro English Gyan you got PERTAMAX...! hehehehe...
Reply
avatar